राम की मर्यादा को स्थापित करने वाला फैसला

Published : Nov 11, 2019 06:04 pm | By: News Mindset

50 views

विश्व पटल पर आज एक बार फिर धर्म की नगरी अयोध्या का परचम लहराया है। आज सारी दुनिया में चर्चा है तो सिर्फ अयोध्या की...क्योंकि अयोध्या महज एक नाम नहीं है भारत के यूपी जिले में स्थित किसी जगह विशेष का...ये एक अध्याय है धर्म का...जो संस्कृति का..संस्कारों का पाठ पढ़ाती रही है पूरी मानवता को...वो भी न जाने कब से..सबक राम का...पुरूषो में उत्तम श्रीराम का..राम की मर्यादा का..जो सदियों से मानवता को मर्यादा का पाठ न सिर्फ पालन करने के लिए कहती है...बल्कि उसका पालन पहले स्वयं कर के दिखाने में आस्था रखती है...उस पालन में होने वाली परेशानियों का सामना पूरे धैर्य और निष्ठा से करके दिखाती है...वो पहले मिसाल सामने रखती है फिर उसके अनुशरण की बात करती है...सदियों पहले स्वयं श्री राम पिता की प्रतिज्ञा का मान रखने के लिए राज पाठ छोड़ वनवास के लिए निकल पड़े थे..और पूरे चौदह वर्षों के बाद लौटे थे...अयोध्या नगरी दीपों से जगमगा उठी..उन्होंने अयोध्या का राज संभाला..और राम राज्य की नींव रखी थी।


 

मानों ठीक वैसे ही पल का साक्षात्कार एक बार फिर विश्व कर रहा है..आज अयोध्या उसी नीति और नैतिकता के सम्मान का साक्षी बन रहा है...देश की सर्वोच्च अदालत ने सालों पुराने राम के जन्मस्थान से जुड़े विवाद पर अपना फैसला सुना दिया है। विवादित जमीन रामलला विराजमान यानी प्रभु श्रीराम को एक पक्ष मानते हुए उन्हें सौंप दिया...केन्द्र की मोदी सरकार को उनका संरक्षक बनाते हुए तीन महीने में एक ट्रस्ट के तहत..मंदिर निर्माण का काम शुरू करने का आदेश दिया है, और साथ ही सौहार्द की बात करते हुए मस्जिद के लिए 5 एकड़ जमीन देने की बात कही है। जल्द ही अयोध्या में भव्य राम मंदिर बन कर तैयार होगा...मतलब कानूनी भाषा में कहें तो..रामलला को उनका हक मिला..अब उनकी जमीन पर उनका घर बन सकेगा।  जिस देश में सौ करोड़ से अधिक हिन्दू हो..जिनके सबसे बड़े आराध्य श्रीराम हों..उस देश ने सत्तर साल तक इंतजार किया...जिस देश में मंदिर के हक की बात करने वाली पार्टी बीजेपी की सरकार पूरी मेजोरिटी में हो...उस सरकार ने इंतजार किया...इतना ही नहीं सरकार पिछले कई दिनों से फैसले की स्वाकृति को लेकर..लॉ एंड आर्डर के साथ सौहार्द का माहौल बनाने में जुटी रही..सत्तारूढ़ पार्टी बीजेपी की सहयोगी, सबसे बड़ी सांस्कृतिक संस्था आरएसएस भी इसी दिशा में पूरे समर्पण के साथ सक्रीय रही..। इन सब तथ्यों पर गौर करें तो कहा जा सकता है कि ये मर्यादा की पराकाष्ठा नहीं तो और क्या है। सब ने धैर्य के साथ इस देश के संविधान का सम्मान बनाए रखा...और आखिरकार कानूनी जीत हासिल की...एक बार फिर राम की नगरी..धर्म की नगरी अयोध्या, एक मिसाल के रूप में दुनिया के सामने है...जिसने साबित कर दिया है कि भारत देश महान है..देश के देवता मर्यादा पुरूषोत्तम राम महान है।

...............................................ब्यूरो रिपोर्ट..नेशनल माइंडसेट..इंडिया

 


Nationalmindset TV Analysis

Prediction        Result
View More

राजधानी दिल्ली में गणतंत्र दिवस को लेकर चाक चौबंद तैयारियां

मध्य प्रदेश: 8वीं पास पढ़ा रहा था सरकारी स्कूल में, कहा मिलते थे 4 हजार रु. महीना

कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने किया स्वराज कौशल पर पलटवार

'महाराष्ट्र में हुए गैर-भाजपा नेताओं के फोन टैप'

संजीव बालियान के बिगड़े बोल, कहा- पश्चिमी उत्तर प्रदेश के छात्रों का JNU और जामिया में 10 फीसदी आरक्षण करवा दें, वह सबका इलाज कर देंगे

सहयोगी पार्टी छोड़ने और किसी अन्य पार्टी के साथ जुड़ने के लिए स्वतंत्र: नीतीश कुमार

केंद्रीय मंत्री संजीव बाल्यान का विवादित बयान,कहा वेस्ट यूपी वाले कर देंगे राष्ट्र विरोधी नारे लगाने वालों का इलाज

भारत और पाकिस्तान के बीच युद्ध की आशंका को लेकर सुखोई-30 तैनात

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम मामले में साकेत कोर्ट ने सुनाई सजा

जेपी नड्डा बने BJP के 11वें राष्ट्रीय अध्यक्ष

पीएम मोदी का जन्मदिन आज, देश-विदेशों से मिली बधाईयां

चांद पर उतरते समय विक्रम का संपर्क टूटा

तबरेज अंसारी मॉब लिंचिंग मामले में एक और खबर ने मचाई सनसनी

भारत की दो महिलाओं ने चंद्रयान-2 मिशन में निभाया अहम रोल

पटाखा फैक्ट्री में लगी आग

असम में अस्पताल की बड़ी लापरवाही

आज चाँद पर उतर जायेगा भारत का यान

काला बाजारी से निपटने के लिए पुलिस ने खोले अलग विभाग

चूड़ियों से गणेश की मूर्ति तैयार

जिंदाबाद और अमर रहे के नारे शहीदों के परिवारों और बच्चों के खाली पेट नहीं भर सकते ।”