बिल्डरों पर बकाये को लेकर सख्त हुआ ग्रेटर नोएडा विकास प्राधिकरण

Published : Sep 16, 2019 05:50 pm | By: National Mindset News

बिल्डरों पर बकाये को लेकर सख्त हुआ ग्रेटर नोएडा विकास प्राधिकरण

17 views

पिछले कुछ समय से बिल्डरों को लेकर सरकार और कोर्ट का रुख सख्त हो गया है। जिससे बिल्डरों की अनियमितता और घर ख़रीदारों के साथ होने वाली ज्यादती में कमी आयी है। इसी कड़ी के ग्रेटर विकास प्राधिकरण ने बिल्डरों पर शिकंजा कसा है। पिछली सरकारों के ढीले रवैये के कारण बिल्डरो की मनमानी बढ़ गई थी। इसका सबसे अधिक नुकसान ख़रीदारों को उठाना पड़ रहा था, वहीं प्राधिकरण के नियमों को भी बिल्डर्स अनदेखी किए जा रहे थे।


 

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने पांच बिल्डर्स के खिलाफ 123 करोड़ की वसूली के लिए आरसी जारी किया है। इन सभी बिल्डर्स को प्राधिकरण ने कमर्शियल प्लाट दिया था। बिल्डर्स ने प्राधिकरण को समय से किस्तें जमा नहीं किया, लिहाजा प्राधिकरण को इनके खिलाफ आरसी जारी करनी पड़ी। । प्राधिकरण के कमर्शियल विभाग ने मैसर्स नीतिश्री डेवलपर्स, मैसर्स मेपल रियलकोन, मैसर्स जेएमडीआर इंफ्रा प्रोजेक्ट, मैसर्स डिलिगेंट तथा मैसर्स ओमेक्स लिमिटेड बिल्डर्स के विरुद्ध 123 की वसूली के लिए आरसी जारी की है। वहीं सूचना यह भी है कि इसके अतिरिक्त 14 बिल्डर्स की परियोजनाओं को भू सम्पदा विनियामक प्राधिकरण (रेरा) में डिरजिस्ट्रेशन हेतु लिखा जा चुका है। साथ ही कमर्शियल योजना तथा बिल्डर्स परियोजना की बकाया राशि वसूली के लिए शेष अन्य बिल्डर्स व डेवलपर्स को अगले सप्ताह तक आरसी जारी करने के निर्देश भी दिये गये हैं। खबर है कि इस संबंध में प्राधिकरण के अधिकारियों की बैठक में ये सारे फैसले लिए गये।

ये बात अब समझ में आ गई है कि बिल्डर्स को बकाया राशि के भुगतान में अब किसी भी तरह की रियायत नहीं मिलने वाली है। इसलिए बिल्डिंग बनाना तब तक संभव नहीं है जब तक बकाया राशि का भुगतान नहीं हो जाता। प्राधिकरण के ढीले रवैये का नाजायज लाभ बिल्डर्स लेते रहे हैं। लेकिन अब प्राधिकरण ने सख्त रुख अख़्तियार करते हुए बिल्डर्स को यह संदेश दे दिया है कि ढीला रवैया बीते जमाने की बात है, इसलिए बकाया देना ही पड़ेगा।  


Nationalmindset TV Analysis

Prediction        Result
View More

1 लाख का इनामी बदमाश गिरफ्तार

इंदिरा गांधी ने वीर सावरकर को किया सम्मानित

होशंगाबाद में स्कूल बस के पलटने से बच्चों की हालत गंभीर

सस्ती दरों पर उत्पाद बेचने की अनुमति नहीं- पीयूष गोयल

एसराम और एमराम ज़ाम्बिया में छोटे पैमाने पर खानों के प्रदर्शन को बेहतर बनाने के लिए एलएम इंजीनियरिंग के साथ सौदा करते हैं - म्यूबंतू

हरियाणा में क्यों हुई सोनिया गांधी की रैली रद्द

अमिताभ हुए अस्पताल में भर्ती, जानिए क्या हुआ उनके साथ

Samsung कंपनी दिया स्मार्टफोन्स पर दिया यह बंपर छूट

हैदराबाद स्थित जेनोमलैब्स ने 'ईट कप' लॉन्च किया

बिल-ए-रोबोट ब्लॉक द्वारा संरचनाओं का निर्माण कर सकता है

चूड़ियों से गणेश की मूर्ति तैयार

पीएम मोदी का जन्मदिन आज, देश-विदेशों से मिली बधाईयां

आज चाँद पर उतर जायेगा भारत का यान

चांद पर उतरते समय विक्रम का संपर्क टूटा

असम में अस्पताल की बड़ी लापरवाही

काला बाजारी से निपटने के लिए पुलिस ने खोले अलग विभाग

उत्तराखंड में नए मोटर व्हीकल एक्ट के विरोध में हड़ताल

पीएम मोदी दो दिन के रूस के दौरे पर

भारत की दो महिलाओं ने चंद्रयान-2 मिशन में निभाया अहम रोल

भारी बारिश से पुणे के कई हिस्सों में जल-जमाव हो गया